नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा ने उतारे नये चेहरे पार्षद पद के उम्मीदवार बदलेंगे वार्ड नं.42 वह 45 कि तस्वीर।

नगरीय निकाय चुनाव में भाजपा ने उतारे नये चेहरे पार्षद पद के उम्मीदवार बदलेंगे वार्ड नं.42 वह 45 कि तस्वीर।

 

बिलासपुर निगम के सीमा विस्तार के बाद होने वाले प्रथम चुनाव में टिकट किसे मिलेगी यह कहना तो अभी कठिन है किंतु दोनों राजनीतिक दलों में पार्षद पद के प्रत्याशी अपने अपने तरीके से टिकट के लिए प्रयास प्रारंभ कर चुके हैं शहर में पहले निगम 55 वार्ड का था बाद में वार्डों की संख्या बढ़कर 65 हुई किंतु इस बार कुल वार्डों की संख्या 70 है पूर्व की अपेक्षा वादों की सीमा विस्तार के साथ ही मतदाताओं की संख्या भी बढ़ गई है निगम में सबसे छोटा वार्ड 3:30 हजार वाला है तो यहीं पर 11 हजार 500 का एक ही वार्ड है वार्ड नंबर 45 हेमू नगर तहसीलदार गली मुर्रा गली जैसे कॉलोनी के मतदाताओं से भरा हुआ है तो इस वार्ड में 10,000 से ज्यादा वोट स्लम बस्ती के भी हैं कुल मिलाकर 45 नंबर वार्ड में मतदाताओं का रुख मिला-जुला रहता है भारतीय जनता पार्टी के अब तक की रणनीति से ऐसा लगता है कि वह नए चेहरों को मौका देंगे विधानसभा चुनाव में हार के बाद इस बार भाजपा संगठन को यह मौका मिला है कि विधानसभा में हुई हार को बराबर कर लिया जाए और स्थानीय सरकार के रूप में फिर से निगम पर कब्जा किया जाए यदि संगठन इसी नीति पर चलता है तो इस बात पर कोई दो मत नहीं की पार्टी और उसके नेता अपने उन कार्यकर्ताओं को मौका देंगे जो पिछले 10 15 वर्षों से पार्टी में सक्रिय रहे वफादार रहे और और उन्होंने कभी किसी पद की लालसा नहीं की वार्ड नंबर 45 में इस बार की परिस्थितियों को देखते हुए भाजपा के सुनील राय टिकट के लिए जोर शोर से प्रयास कर रहे हैं वार्ड नंबर 45 का यह क्षेत्र मस्तूरी विधानसभा के अंतर्गत आता है किंतु इस वार्ड में कुछ हिस्सा बिलासपुर विधानसभा का भी है लिहाजा जिसे भी टिकट मिलेगी उसके ऊपर यह जिम्मेदारी होगी कि वह भाजपा के दोनों विधायकों को संतुष्ट करें इस लिहाज से राय की स्थिति को नकारा नहीं जा सकता।

vandana