चुनाव नजदीक आते ही जननेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध होने लगती हैं झूठी शिकायतें… जब कभी भी कोई चुनाव नजदीक आता है या संगठन या शासन स्तर पर पद बांटने की स्थिति निर्मित होती है तो बेलतरा बिलासपुर के लोकप्रिय जन नेता त्रिलोक श्रीवास और उसके परिजनों के विरुद्ध झूठी शिकायत करने का साजिश प्रारंभ हो जाता है, वर्तमान मामला ग्राम कोनी का है ग्राम कोनी में अधिवक्ता जे अंसारी के निजी भूमि हैं.. जिसमें वह वर्षों से काबिज चले आ रहे हैं उनके समीप भूस्वामी कोनी के ही जमीन दलाल रमेश साहू हैं जो एक आईटीआई भी चलाते हैं रमेश साहू अंसारी की जमीन पर विवाद करते रहते हैं कल दिनांक रमेश साहू ने पुनः अंसारी से विवाद किया जब अधिवक्ता जे अंसारी ने इसकी शिकायत पुलिस थाना कोनी में की तो शहर के कुछ दलाल लोग और त्रिलोक श्रीवास और उनके परिजनों से ईर्ष्या रखने वाले लोगों ने जन नेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध कोनी थाने में जमीन कब्जा का झूठा आवेदन दे दिया जब कभी भी चुनाव नजदीक आता है त्रिलोक श्रीवास एवं उनके परिवार वालों के खिलाफ ऐसी झूठी शिकायत कई बार हुए हैं.. और हमेशा वह झूठा शिकायत झूठा और निराधार साबित हुआ है .. शिकायत को पुलिस ने जांच में लिया है इस बारे में बात करने पर श्री त्रिलोक श्रीवास ने बताया कि आगामी नगरीय निकाय चुनाव और स्थानीय निकाय चुनाव को देखते हुए उनके और उनके परिवार की छवि धूमिल करने के लिए विरोधी तत्वों ने पुनः झूठा शिकायत किया है त्रिलोक श्रीवास या उनके परिजनों ने कभी भी या वर्तमान में भी किसी किसान का कोई जमीन कब्जा नहीं किया है कई बार ऐसे दर्जनों झूठी शिकायतें करवाते रहे हैं, इस बार भी दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.. और हमेशा झूठा शिकायत करने वाले लोगों को हमेशा की भांति इस बार भी मुंह को खाना पड़ेगा….

चुनाव नजदीक आते ही जननेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध होने लगती हैं झूठी शिकायतें…

चुनाव नजदीक आते ही जननेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध होने लगती हैं झूठी शिकायतें… जब कभी भी कोई चुनाव नजदीक आता है या संगठन या शासन स्तर पर पद बांटने की स्थिति निर्मित होती है तो बेलतरा बिलासपुर के लोकप्रिय जन नेता त्रिलोक श्रीवास और उसके परिजनों के विरुद्ध झूठी शिकायत करने का साजिश प्रारंभ हो जाता है, वर्तमान मामला ग्राम कोनी का है ग्राम कोनी में अधिवक्ता जे अंसारी के निजी भूमि हैं.. जिसमें वह वर्षों से काबिज चले आ रहे हैं उनके समीप भूस्वामी कोनी के ही जमीन दलाल रमेश साहू हैं जो एक आईटीआई भी चलाते हैं रमेश साहू अंसारी की जमीन पर विवाद करते रहते हैं कल दिनांक रमेश साहू ने पुनः अंसारी से विवाद किया जब अधिवक्ता जे अंसारी ने इसकी शिकायत पुलिस थाना कोनी में की तो शहर के कुछ दलाल लोग और त्रिलोक श्रीवास और उनके परिजनों से ईर्ष्या रखने वाले लोगों ने जन नेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध कोनी थाने में जमीन कब्जा का झूठा आवेदन दे दिया जब कभी भी चुनाव नजदीक आता है त्रिलोक श्रीवास एवं उनके परिवार वालों के खिलाफ ऐसी झूठी शिकायत कई बार हुए हैं.. और हमेशा वह झूठा शिकायत झूठा और निराधार साबित हुआ है .. शिकायत को पुलिस ने जांच में लिया है इस बारे में बात करने पर श्री त्रिलोक श्रीवास ने बताया कि आगामी नगरीय निकाय चुनाव और स्थानीय निकाय चुनाव को देखते हुए उनके और उनके परिवार की छवि धूमिल करने के लिए विरोधी तत्वों ने पुनः झूठा शिकायत किया है त्रिलोक श्रीवास या उनके परिजनों ने कभी भी या वर्तमान में भी किसी किसान का कोई जमीन कब्जा नहीं किया है कई बार ऐसे दर्जनों झूठी शिकायतें करवाते रहे हैं, इस बार भी दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.. और हमेशा झूठा शिकायत करने वाले लोगों को हमेशा की भांति इस बार भी मुंह को खाना पड़ेगा….

जब कभी भी कोई चुनाव नजदीक आता है या संगठन या शासन स्तर पर पद बांटने की स्थिति निर्मित होती है तो बेलतरा बिलासपुर के लोकप्रिय जन नेता त्रिलोक श्रीवास और उसके परिजनों के विरुद्ध झूठी शिकायत करने का साजिश प्रारंभ हो जाता है, वर्तमान मामला ग्राम कोनी का है ग्राम कोनी में अधिवक्ता जे अंसारी के निजी भूमि हैं.. जिसमें वह वर्षों से काबिज चले आ रहे हैं उनके समीप भूस्वामी कोनी के ही जमीन दलाल रमेश साहू हैं जो एक आईटीआई भी चलाते हैं रमेश साहू अंसारी की जमीन पर विवाद करते रहते हैं कल दिनांक रमेश साहू ने पुनः अंसारी से विवाद किया जब अधिवक्ता जे अंसारी ने इसकी शिकायत पुलिस थाना कोनी में की तो शहर के कुछ दलाल लोग और त्रिलोक श्रीवास और उनके परिजनों से ईर्ष्या रखने वाले लोगों ने जन नेता त्रिलोक श्रीवास के विरुद्ध कोनी थाने में जमीन कब्जा का झूठा आवेदन दे दिया जब कभी भी चुनाव नजदीक आता है त्रिलोक श्रीवास एवं उनके परिवार वालों के खिलाफ ऐसी झूठी शिकायत कई बार हुए हैं.. और हमेशा वह झूठा शिकायत झूठा और निराधार साबित हुआ है .. शिकायत को पुलिस ने जांच में लिया है इस बारे में बात करने पर श्री त्रिलोक श्रीवास ने बताया कि आगामी नगरीय निकाय चुनाव और स्थानीय निकाय चुनाव को देखते हुए उनके और उनके परिवार की छवि धूमिल करने के लिए विरोधी तत्वों ने पुनः झूठा शिकायत किया है त्रिलोक श्रीवास या उनके परिजनों ने कभी भी या वर्तमान में भी किसी किसान का कोई जमीन कब्जा नहीं किया है कई बार ऐसे दर्जनों झूठी शिकायतें करवाते रहे हैं, इस बार भी दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा.. और हमेशा झूठा शिकायत करने वाले लोगों को हमेशा की भांति इस बार भी मुंह को खाना पड़ेगा….

vandana