धरम, विष्णु की जोड़ी से बनेंगे  बिलासपुर में बीजेपी के समीकरण।

धरम, विष्णु की जोड़ी से बनेंगे  बिलासपुर में बीजेपी के समीकरण

सेठजी पार्टी में भी होंगे बेगाने

बिलासपुर :- विष्णुदेव साय को छत्तीसगढ़ बीजेपी का कमान मिल गई है ऐसा कम ही होता है जब बीजेपी

 

किसी ऐसे नेता को प्रदेश अध्यक्ष बना दे जो ना तो विधायक हो न ही सांसद खास कर  ऐसे प्रदेश में जहां सत्ता के विरुद्ध संघर्ष करना है अजीत जोगी के शासनकाल में तो पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई ने छत्तीसगढ़ से एक दो नहीं तीन मंत्री बना दिए थे जिससे बीजेपी को पूरा वीआईपी छाया प्राप्त हुआ  और जोगी के विरुद्ध संघर्ष में टानिक भी मिला गूटीय राजनीति के  हिसाब से विष्णुदेव साय दिवंगत बीजेपी नेता दिलीप सिंह जूदेव के नजदीक माने जाते थे उन्हें जब पहली बार प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया था तब जूदेव जिंदा थे और तत्कालीन मुख्यमंत्री तथा जूदेव के बीच राजनैतिक सामंजस्य भी अच्छी थी  इस बार विष्णु देव को जब अध्यक्ष पद मिला तब भी यह माना गया कि अध्यक्ष पद की ताजपोशी में रमन की चली है डॉक्टर साहब भले ही सत्ता के बाहर हैं किंतु प्रदेश की नियुक्तियों पर उनका पूरा नियंत्रण है इस बात को  दो बातों से बल मिलता है  पहला विधायकों के लाख  विरोध के बावजूद नेता प्रतिपक्ष पद पर धरमलाल कौशिक का मनोबल और अब विष्णु देव का प्रदेश अध्यक्ष बनाना .साय के अध्यक्ष बनने से बिलासपुर जिले में बीजेपी की 2018 के विधानसभा चुनाव में बिलासपुर विधानसभा से कद्दावर नेता कई बार के  मंत्री सेठ अमर अग्रवाल को भले ही पटखनी मिली  पर बीजेपी की राजनीति में अभी भी उनकी चलती है ऐसे में राजनैतिक ध्रुवीकरण का खेल प्रारंभ होगा और नेता प्रतिपक्ष मस्तूरी विधायक तथा जूदेव ग्रुप लामबंद होगा तखतपुर की प्रत्याशी भी इस ग्रुप को ज्वाइन कर सकती है आज से आने वाले समय में बीजेपी की राजनीति की चाले दिलचस्प होगी…

vandana