थाने का हिस्सा देकर ही खिलाते हैं सट्टा सिरगिट्टी क्षेत्र में बेखौफ जारी है कल्याण की बुकिंग

थाने का हिस्सा देकर ही खिलाते हैं सट्टा
सिरगिट्टी क्षेत्र में बेखौफ जारी है कल्याण की बुकिंग
बिलासपुर। लॉकडाउन के दौरान जब सब ओर शटर बंद नजर आते हैं तब बंद दुकानों के बाहर युवाओं का समूह बड़े निश्चिंत भाव से सट्टे की बुकिंग लिखा था नजर आता है यह दृश्य बन्नाकडीह के मुख्य मार्ग पर बड़ी आसानी से देखा जा सकता है। बातचीत के दौरान सट्टा लिखने वाले को इस बात की कतई चिंता नहीं थी कि उसकी सट्टा पट्टी का ना केवल फोटो लिया गया है बल्कि पूरी बात रिकॉर्ड भी हुई है उसने बताया कि सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के सब स्टाफ को पता है कि इस जगह पर मानिकपुरी का सट्टा चलता है उसने पूछे जाने पर दीपक मानिकपुरी का नाम लिया सट्टा किस तरह का लगाते हो तब उसने गेम का नाम कल्याण बताया। जोड़ी का कितना कितने बजे भुगतान आदि की भी चर्चा हुई उसने यह भी कहा कि सिरगिट्टी के टीआई को सब पता है समय पर हफ्ता देते हैं तभी तो निश्चिंत होकर सट्टा खिलाते हैं उसने डायलॉग पर बोला कि लॉकडाउन में खिलाते हैं सट्टा देते हैं टीआई को आधा। सिरगिट्टी थाना क्षेत्र में कुछ ही दिन पूर्व टी आई का बदलाव हुआ था मस्तूरी से जो टीआई इधर पदस्थ हुआ उसे बड़ा तेजतर्रार माना जाता था। जन छवि ऐसी है कि वह अपराधियों के प्रति बड़े सख्त हैं मस्तूरी में गांजा, जुआ, सट्टा सब कुछ पर तेजी से कार्यवाही करके उन्होंने अपना नाम चर्चित कर लिया था। जबकि सिरगिट्टी जो कि औद्योगिक क्षेत्र में आता है यहां पर डीजल चोर से लेकर करोड़पति कावड़ चोर तक है बेखौफ सट्टा रोज की बात है इस सब के बाद भी एक अदना सा सट्टा बुकी जो रोज 4 से 5000 का बुकिंग लेता है वह बड़े आत्मविश्वास के साथ कैसे कहता है कि क्षेत्र के टीआई को हफ्ता देते हैं। इसलिए तो खुलेआम सट्टा खिलाते हैं अन्यथा हमारी जगह तो जेल में होती । जहां पर सट्टा लिखा जा रहा था वहीं से सिरगिट्टी टीआई को दो बार संपर्क किया गया किंतु उन्होंने फोन नहीं उठाया तब संबंधित सीएसपी को सट्टे की जानकारी दी गई कार्यवाही क्या हुई नहीं पता पूरा वाकया 2:30 से 3:00 बजे के बीच का है ।
vandana