रिशु मसीह गणेशपुर निवासी ने एसपी के पास लगाई न्याय की गुहार।

रिशु मसीह गणेशपुर निवासी ने एसपी के पास लगाई न्याय की गुहार–

(बलौदाबाजार)–जिला बलौदा बाजार के सिमगा थाना क्षेत्र के अंतर्गत गणेशपुर निवासी पीड़िता रेशु मसीह ने पुलिस अधीक्षक बलोदा बाजार भाटापारा के पास न्याय की गुहार लगायी है पीड़िता का आरोप है सिमगा थाना में पदस्थ चार आरक्षक एवं एक महिला आरक्षक द्वारा मेरे घर में घुसकर मुझे एवं मेरे परिवार के सदस्यों को बिना किसी प्रकार की अपराध कायम किए बिना मारपीट किया गया जिसमें मेरे बच्चे जिसकी उम्र लगभग 4 वर्ष उसको भी मारे हैं जिसमें मेरे बच्चे की हाथ की उंगलियों के नाखून भी निकल गया है। पुलिस वाले मेरे पति के ऊपर आरोप लगा रहे हैं मेरा पति मरे हुए मवेशी को काट कर रखे है तथा मेरे पति के ऊपर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया जोकि निराधार है पुलिस द्वारा मुझे और मेरे परिवार को मां बहन की गाली दिए हैं मेरे पति की जानकारी पुलिस के द्वारा पूछने पर पूछने पर जब मैंने कहा कि वह गाड़ी की बुकिंग में गए हैं तो उन्होंने कहा कि क्या तुम बीवी हो कि उनकी रखेल हो इस तरह से अनैतिकता पूर्ण व्यवहार भी किए जिसको आसपास के लोग भी सुने है। मेरे ससुर को पुलिस थाना में बुलवाकरके दबाव बनाकर दोशी बनाए जाने की कोशिश किया गया यहां तक की मेरे बच्चे के हाथ में लगे चोट को दरवाजा से लगा है करके कबूल कराया जा रहा है माननीय पुलिस अधीक्षक से मैं और मेरा पूरा परिवार न्याय की गुहार लगाते हैं जिस को संज्ञान में लेते हुए निष्पक्ष एवं उचित कार्यवाही करें।

-क्या सिमगा पुलिस का इस प्रकार का अमानवीय चेहरा सही है-

–क्या सिमगा पुलिस द्वारा महिला के साथ मारपीट एवं बच्चे का नाखून निकालना शोभनीय है–

क्या इस पर पुलिस अधीक्षक जिला बलौदा बाजार भाटापारा संज्ञान में लेकर अपने ही विभाग के कर्मचारी पर कोई निष्पक्ष जांच करते हैं या नहीं यह देखने वाली बात होगी कि आगे क्या होता है खबर अभी बाकी है वहां अगले अंक में प्रकाशित की जाएगी

vandana