आईजी रतनलाल डांगी को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र मिलने पर वर्ल्ड रिकॉर्ड धारी अभिनेता अखिलेश पांडे ने बधाई दीया।

आईजी रतनलाल डांगी को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र मिलने पर वर्ल्ड रिकॉर्ड धारी अभिनेता अखिलेश पांडे ने बधाई दीया

बिलासपुर के आईजी रतनलाल डांगी को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड लंदन के द्वारा कोविड-19 के दौरान योग व जागरूकता लाने के लिए प्रमाण पत्र दिया गया उन्हें यह प्रमाण पत्र मिलने के बाद छत्तीसगढ़ के जाने-माने अभिनेता अखिलेश पांडे ने उन्हें बधाई दीया और कहा कि यह पूरे क्षेत्र के लिए बड़ा गर्व का विषय है की छत्तीसगढ़ में ऐसे जागरूक अधिकारी हैं जो कि लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत बने हुए हैं और बहुत से लोग उनका अनुसरण करते हैं अगर समाज में ऐसे पुलिस अधिकारी अपने जिम्मेदारियों का निर्वहन करेंगे और समाज को एक नई दिशा देंगे तो लोगों का नजरिया बदलेगा और लोग भी प्रेरित होकर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होंगे आईजी रतनलाल डांगी को कोविड 19 से बचने के लिए योग व फिजिकल एक्टिविटी से जागरूता अभियान चलाने पर वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स के द्वारा प्रमाणपत्र देकर सम्मानित किया गया है।आईजी श्री डांगी ने कोरोना काल में अपने विभागीय दायित्वों को पूरा करने के साथ आम लोगों का कोरोना जैसे संकट में मनोबल बढ़ाने, जागरूक करने एवं इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए योग एवं फिजिकल एक्टिविटी के विंडियो, फोटो के माध्यम से जागरूक करने का अभियान मार्च 2020 से शुरू किया था, जो वर्तमान में भी जारी है। मानव जाति के स्वास्थ एवं सुरक्षा को बनाए रखने के इस प्रयास को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स यूके लंदन ने एक प्रमाणपत्र देकर सराहा है।
सर्टिफिकेट हर उस व्यक्ति का उत्साह बढ़ायेगा जो बिना स्वार्थ के मानव जाति के कल्याण के लिए अनवरत लगे हुए हैं। कोविड 19 संसार के हर हिस्से में फैल गया है। और इसने समाज के हर व्यक्ति को प्रभावित किया है। विश्व स्वास्थ संबंधी संकट पैदा होने के कारण डब्ल्यूएचओ ने इसे वैश्विक महामारी घोषित किया है। दुनिया के साथ हमारे देश को भी कोरोना महामारी ने हिला कर रख दिया है। ऐसे समय में पुलिस लीडरशिप की बहुत बड़ी भूमिका होती है। पुलिस नेतृत्व को समय पर अपने कर्मचारियों का टेस्टिंग कराने साथ ही उनको कोरोना से बचने के लिए जो आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराना, वेलफेयर का ध्यान रखना। उनका मनोबल बढ़ाए रखना, ड्यूटी स्थल पर पहुंचकर हालचाल जानना एवं उनके परिजन का कुशलक्षेम जाना गया था।

vandana