गोस्वामी तुलसीदास विश्व में अद्भुत व अद्वितीय कवि डॉक्टर गिरधर शर्मा।

गोस्वामी तुलसीदास विश्व में अद्भुत व अद्वितीय कवि डॉक्टर गिरधर शर्मा
निराला साहित्य मंडल ने मनाई महाकवि तुलसीदास जी की जयंती
वंदना न्यूज जांजगीर चाँपासाहित्य सेवा के क्षेत्र में 1961 से अनवरत संचालित अग्रणी एवं प्राचीनतम साहित्य संस्थान निराला साहित्य मंडल चांपा द्वारा धीरेंद्र वाजपेयी डी बी वेंचर्स के गौरव पथ स्थित सभागार में तुलसी जयंती पर एक समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ज्योतिष एवं तांत्रिकविद डॉ गिरधर शर्मा आचार्य थे। विशिष्ट अतिथि के रूप में परम विदुषी श्रीमद्भागवतगीता प्रवचन कर्ता पूज्य दीदी श्रीमती सविता गोस्वामी थी। प्रवक्ता के रूप में भागवत भूषण पंडित दिनेश दुबे एवं मंडल के मुख्य संरक्षक पंडित हरिहर प्रसाद तिवारी उपस्थित थे। जयंती अवसर पर मंडल एवं नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष राजेश अग्रवाल एवं कार्यकारी अध्यक्ष पंडित धीरेंद्र वाजपेयी मंचासीन थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथियों द्वारा मां सरस्वती, गोस्वामी तुलसीदास,सूर्यकांत त्रिपाठी निराला, स्वर्गीय मोहनलाल वाजपेयी जी के तैल चित्र पर माल्यार्पण कर पूजन वंदन किया गया। इसके बाद उपाध्यक्ष अखिलेश कोमल पांडे ने समवेत स्वर में सरस्वती वंदना का पाठ कराया। मुख्य अतिथि सहित मंचासीन अतिथियों का स्वागत मंडल के पदाधिकारियों द्वारा कौसेय शाल भेंट कर तथा माल्यार्पण कर किया गया। समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि पंडित गिरधर शर्मा ने कहा कि महाकवि गोस्वामी तुलसीदास जी के साहित्य में छत्तीसगढ़ी बोली को विशेष महत्व दिया गया है। उन्होंने जानकारी दी कि इंडोनेशिया प्रवास के दौरान प्रस्तुत उनकी महाकवि तुलसीदास जी के व्यक्तित्व पर आधारित रचना को खूब सराहा गया तथा इसे पोएट्स आफ इंडोनेशिया सम्मान से नवाजा गया। उन्होंने कहा कि महाकवि तुलसीदास जी रामचरितमानस की रचना कर विश्व में अद्भुत एवं अद्वितीय कवि कहलाये।प्रवक्ता पंडित दिनेश दुबे ने कहा कि महाकवि गोस्वामी तुलसीदास जी का वांग्मय बहुत विशाल है। सत्य, शील, सौंदर्य, नीति व्यवहार भक्ति, ज्ञान, वैराग्य के हितकारी तत्व उनकी रचनाओं में समाहित है। पंडित हरिहर प्रसाद तिवारी ने कहा कि महाकवि गोस्वामी तुलसीदास ने कुसंग और सत्संग को विभिन्न प्रकार की घटनाओं के माध्यम से प्रकट किया है। उन्होंने कुसंग को विनाश का हेतु सिद्ध किया है। विशिष्ट अतिथि दीदी सविता गोस्वामी ने कहा कि घोर अव्यवस्था अशांति एवं निराशा के वातावरण काल में जन्मे महाकवि गोस्वामी तुलसीदास जी ने जिस मर्यादा पुरुषोत्तम राम को अपनी आस्था व श्रद्धा अर्पित की उन्हीं की कृपा से वह विश्व के श्रेष्ठ कवि व महान विचारक कहलाये। उन्होंने उपस्थितों से मर्यादा पुरुषोत्तम राम के द्वारा बताए गए आदर्श एवं सिद्धांतों पर चलने की अपील कर अपना जीवन सफल बनाने का अनुरोध किया। समारोह के प्रारंभ में अपने स्वागत भाषण में मंडल के अध्यक्ष राजेश अग्रवाल ने कार्यक्रम में मंचासीन अतिथियों सहित सभागार में उपस्थित साहित्य प्रेमियों का स्वागत करते हुए सभी को 75वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं प्रदान की। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति के आदर्श और सिद्धांत ही उसे महान और लोगों के बीच पूज्यनीय बनाते हैं। इस अवसर पर डी बी वेंचर्स ग्रुप की ओर से निराला रचित सरस्वती वंदना एवं नंदा बुक डिपो के संचालक पार्षद नागेंद्र गुप्ता द्वारा प्रदत हनुमान चालीसा एवं सुंदरकांड का वितरण सभी उपस्थितों में किया गया। कार्यक्रम का काव्यमय संचालन मंडल के प्रधान सचिव रविंद्र कुमार द्विवेदी ने एवं अंत में आभार प्रदर्शन डी बी वेंचर्स के संचालक एवं मंडल के कार्यकारी अध्यक्ष धीरेंद्र वाजपेयी ने किया। स्वल्पाहार के आमंत्रण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।
इस अवसर पर सुरेश दीवान, रामगोपाल गौराहा, अनिल शुक्ला, श्रीमती चेष्टा शुक्ला, राजेश सोनार, श्रीमती संगीता अग्रवाल, श्रीमती कुमुदिनी द्विवेदी, श्रीमती मीरा पत्की, श्रीमती माधुरी शर्मा, डॉ इंदु साधवानी, श्रीमती रितु तिवारी, श्रीमती संगीता पांडेय, संगीता देवांगन, उर्वशी थापा, मनीषा देवांगन, कमलनैनी देवांगन, खुशबू शर्मा, किशन सोनी,लक्ष्मी नारायण तिवारी, योगेंद्रधर दीवान, सुनील कुमार दास, बलवीर सिंह राजपूत, सुनील गोस्वामी,राजेश सोनी, अशोक सराफ,शशि भूषण सोनी, डीबी वेंचर्स ग्रुप के अजय शर्मा, शंकर शर्मा, नरेंद्र शर्मा, कमल महंत,माही थवाईत, चंद्रशेखर थवाईत, पुष्पराज केवट, चंद्र कुमार देवांगन, विकास सोनी, युगल मिश्रा सहित बड़ी संख्या में नगर के साहित्यकार, प्रबुद्ध नागरिकगण, एवं साहित्य प्रेमी उपस्थित थे।

vandana