ऐसा क्या हुआ कि प्रेमिका ने जहर पीकर दे दी अपने प्रेमी के लिये जान।

ऐसा क्या हुआ कि प्रेमिका ने जहर पीकर दे दी अपने प्रेमी के लिये जान।

वंदना न्यूज बिलासपुर :- बिल्हा प्रेमी के घर के सामने जहरीला पदार्थ पीकर युवती ने दे दी अपनी जान 10 साल से लिव-इन में रह रही युवती ने प्रेमी के घर के सामने जहरीला पदार्थ पीकर जान दे दी। प्रेमी ने शादी से इनकार कर दिया था, जिससे नाराज होकर उसने आत्महत्या की। इलाज के दौरान मंगलवार रात युवती की मौत हो गई। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

सरकंडा के लोधीपारा निवासी रजनी प्रधान (30) रिवर व्यू में चाय की दुकान चलाती थी। पिछले 10 साल से वह बिल्हा निवासी जगन्नाथ ध्रुव के साथ गोंडपारा में किराए के मकान में लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही थी। बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से रजनी उससे शादी के लिए कह रही थी, लेकिन जगन्नाथ घर वालों से बात करने का बहाना कर टाल रहा था।

17 अक्टूबर को रजनी, उसकी मां रूखमणी प्रधान, बहन रश्मि शादी की बात करने के लिए जगन्नाथ के घर बिल्हा गए थे। वहां जगन्नाथ ने उससे शादी करने से इंकार कर दिया। जगन्नाथ अपने घर से चला गया यह देखकर रजनी भी बाहर निकल गई। घर के सामने ही उसने पास रखा कीटनाशक पी लिया। कुछ देर बाद उसकी मां व बहन बाहर निकले, तब रजनी ने उन्हें जहरीला पदार्थ पीने के बारे में बताया।

दोनों उसे आनन-फानन में इलाज के लिए सिम्स लेकर पहुंचे। तीन दिन तक रजनी जिंदगी और मौत से जूझती रही और मंगलवार रात को उसकी मौत हो गई। इस मामले में सिविल लाइन पुलिस ने प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है। बाद में इस मामले की जांच बिल्हा पुलिस करेगी।

जगन्नाथ व रजनी के बीच शादी करने की बात को लेकर पिछले कुछ दिनों से विवाद शुरू हो गया था। इसके चलते जगन्नाथ बिल्हा चला गया था। चार दिन पहले रजनी ने अपने वाट‌्सएप स्टेटस में दुनिया से दूर जाने जैसी बातें लिखी थी। इसे देखकर उसकी सहेली रश्मि ने उससे बातचीत की थी। इस दौरान रजनी को उसने अपनी मां-बहन से बात करने भी कहा था। उसकी मां रूखमणी ने भी समझाइश दी थी। साथ ही जगन्नाथ से बात करने उसके घर जाने की बात कही थी।

रजनी की मां रूखमणी प्रधान ने पुलिस को बताया कि उसकी बेटी पिछले कुछ दिनों से परेशान थी। इसकी जानकारी होने पर उन्होंने समझाइश भी दी थी। रूखमणी ने जगन्नाथ व उसके घरवालों से चर्चा करने की बात कही थी। इसलिए वह बिल्हा भी गई थी। लेकिन, जगन्नाथ व उसके घर वालों ने रजनी को अपनाने से मना कर दिया।

vandana