अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति दुर्ग छग.के पत्रकारों ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन।

अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति दुर्ग छग.के पत्रकारों ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने मुख्यमंत्री के नाम दिया ज्ञापन।

प्रदेश में पत्रकारों पर होने वाले फर्जी मामले में FIR बन्द करो ।

वंदना न्यूज दुर्ग । अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति [ABPSS] द्वारा पुरे देश में पत्रकारों के हितों उनकी सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के लिए अपना पूरा जोर लगा रही है। और हर हाल में किसी भी कीमत पर यह लागू करवाने से पीछे नहीं हटेगी । 

हमेशा से ही यह देखा गया है की जब भी कोई पत्रकार किसी भी गंभीर मुद्दे को सामने लाता है और उसके परिणाम से किसी को सजा होती है।  ऐसे मामलों से बचने के लिए अपराधियों से सीधा सीधा यह हथकंडा अपनाया हुआ है की मामले के सम्बंधित पत्रकार को किसी दुसरे मामलों में सीधे फंसा दिया जाए। ऐसे में होता यह है की  आरोपी कानून को गुमराह कर साफ़ बच  निकलता है और अपनी जान जोखिम में डालकर जो पत्रकार भ्रस्टाचार और गड़बड़ियों को उजागर करना चाहता है वह खुद ही कानून की जालों में उलझ जाता है।यह बातें सिर्फ छत्तीसगढ़ में ही नहीं होती बल्कि पुरे देश में होती है ।कई पत्रकारों को अपनी जान से इस तरह के काम में हाथ भी धोना पड़ जाता है ।

इन सब बातों को लेकर अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति ने पुरे देश में प्रकार सुरक्षा कानून लागू करने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया है।  वर्ष 2017 में अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ ने बिलासपुर में पुरे वृहद् स्तर  पर कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमे अतिथि के रूप में तात्कालिक छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल को आमंत्रित किया गया था ।  उन्होंने पूरी भरी सभा में एलान किया था की जब भी उनकी सरकार बनेगी हर हाल में इस पत्रकार सुरक्षा कानून को लागू किया जाएगा । लेकिन प्रदेश में कांग्रेश की भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार बने लगभग 3 साल होने जा रहे है लेकिन आपने इस पर अपना वचन नहीं निभाया है।

आपने सिर्फ छत्तीसगढ़ शासन द्वारा रिटायर्ड हाईकोर्ट जज के नेतृत्व में समिति का गठन कर ड्राफ्ट तैयार कर लिया  है जिसे समिति द्वारा शासन को सौप दिया। साथ ही साथ सरकार द्वारा दावा आपत्ति हेतु वेब साइड में भी अपलोड कर दिया गया।इसके अतिरिक्त कुछ भी प्रगति पत्रकार सुरक्षा कानून लागू ओने केलिए नहीं की है।विधानसभा सत्र आते गए और निकलते गए पर सरकार द्वारा विधानसभा में चर्चा कराकर पास कराने की रुचि नही दिखाई।

इसलिए अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ पत्रकारों ने मांग किया  है कि अब विलंब नही करते हुए पत्रकार सुरक्षा कानून को विधानसभा में 13 दिसम्बर से शुरू होने वाले शीत कालीन सत्र पर चर्चा कर कानूनी रूप दिया जाये।श्रीमान 13 दिसम्बर के पहले शीत कालीन सत्र में पत्रकार सुरक्षा कानून ड्राफ्ट को रखे जाने की घोषणा कर दी जाए जिससे पत्रकार जगत में सरकार के प्रति जो अविश्वास है उसे विश्वास हो सके ।अन्यथा अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ को प्रदेश के पत्रकार साथियों के साथ मुख्यमंत्री हाउस के सामने धरना प्रदर्शन करने के लिये मजबूर होगा जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी आपकी होगी।

इसी बात को लेकर अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति छत्तीसगढ़ दुर्ग  जिला अध्यक्ष राकेश तम्बोली ने 26 नवंबर 2021 को अपने साथियों मनोज देवांगन, गोपाल निर्मलकर ,आशीष,शुभांकर राय के साथ मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन दुर्ग के अतिरिक्त कलेक्टर महोदया डॉ.प्रियंका वर्मा जी और श्री जागेश्वर कौशल डिप्टी को सौपां। इसमें  छत्तीसगढ़ के माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को उनकी बातें याद दिलाते हुए शीतकालीन सत्र में इस विधेयक को हर हाल में लागू करने की मांग की है। 

दुर्ग जिला प्रेस क्लब ने दिया साथ 

दुर्ग जिला प्रेस क्लब ने पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करवाने की बात पर अपना समर्थन दिया है उन्होंने कहा है की सुरक्षा कानून लागू होने पर पत्रकारों के हित की रक्षा होगी ,इस बात पर अपना समर्थन प्रेस क्लब के उपाध्यक्ष शरद पंसारी ने क्लब की तरफ से दिया है।

vandana